दुनिया के अधिकांश देशों का भारत के साथ जुड़ाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के असाधारण राजनीतिक नेतृत्व के कारण संभव हुआ है- कौशिक

दुनिया के अधिकांश देशों का भारत के साथ जुड़ाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के असाधारण राजनीतिक नेतृत्व के कारण संभव हुआ है- कौशिक
Spread the love

पौड़ी गढ़वाल। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने स्वर्ग आश्रम में चल रही पौड़ी जिले के जिला प्रशिक्षण वर्ग में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हाल के वर्षों में दुनिया के साथ भारत का जुड़ाव मूलतः देश के आर्थिक विकास व जननायक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के असाधारण नेतृत्व के कारण संभव हुआ है आज हमारे घरेलू उद्देश्यों को हासिल करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ जुड़ाव की आवश्यकता महत्वपूर्ण है इसी प्रकार समकालीन समय में सैन्य ,कूटनीतिक ,आर्थिक शक्तियों ने पारंपरिक विदेश नीति के दृष्टिकोण से आगे बढ़कर व्यापक वैश्विक प्रतिबद्धताओं के ओर अपना रुख किया है।

उन्होंने कहा कि कालांतर में कई वैश्विक घटनाएं घटित हुई है वह भी वैश्विक दृष्टिकोण में शामिल है साथ ही उन्होंने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के हारने के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति बाइडन ने भी भारत के साथ अपने संबंधों की प्रगाढ़ता को बढ़ाने का कार्य कर रहे है ।उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच रणनीति व रक्षा सहयोग जॉर्ज डब्लू बुश के कार्यकाल के बाद से ही विकसित होने शुरू हुए है और अब यह रिश्ता धीरे धीरे गहरा और व्यापक होता जा रहा है । अब वर्षाे के बाद भारत की स्थिति अमेरिका के प्रमुख रक्षा सहयोगी और एशिया केंद्रित नीति के प्रमुख भागीदार होने के तौर पर और व्यापक होने लगी है ,उन्होंने कहा इसके अलावा 2018 में अमेरिका की इंडो-पेसिफिक रणनीति के जारी होने से यह स्पष्ट हो गया है कि इंडो-पेसिफिक में चीन की आक्रामकता को संतुलित करने में अब भारत की भूमिका प्रमुख होने वाली है और बाइडन प्रशासन आने वाले समय मे भारत से इन संबंधों को और मजबूत करेगा।

उन्होंने कहा कि पिछले साल गलबान संकट के बाद भारत चीन द्विपक्षीय संबंधों में महत्वपूर्ण रणनीतिक बदलाव आया है भारत सरकार ने कई लोकप्रिय एप्लिकेशन जैसे टिक टॉक शेयर इट नब ब्राउज़र और चनइह जैसे 267 एप्प पर प्रतिबंध लगाकर अपना रुख साफ किया है भारत ने 2020 में उन देशों से आने वाले किप मानदंडों को भी खड़ा कर दिया है, जो भारत के साथ सीमा साझा करते है अब भारत के अंदर किसी भी निवेश के लिए सरकार की मंजूरी अनिवार्य कर दी गयी है, उन्होंने कहा कि भारत और चीन में प्रत्यक्ष विदेश निवेश 2019 -20 में घटकर 163.78 मिलियन डॉलर रह गया है जो कि 2018 में 229 मिलियन डॉलर था। मदन कौशिक ने कहा कि आज भारत नरेंद्र मोदी के विज़न आत्मनिर्भर भारत के अभियान के माध्यम से उन छेत्रो मे, घरेलु उत्पादों को प्रोत्साहित कर रहा है जिसमे कभी चीन का दबदबा रहा है इसके अलावा भारत अन्य देशों के साथ भी अपने आर्थिक संबंध बढ़ा रहा है । उन्होंने कहा कि आज भारत का प्रभाव यूरोपियन संघ और ब्रिकीष्ट में लगातार बढ़ता जा रहा है आज भारत के साथ यूके अपनी रणनीतिक साझेदारी बढ़ाने और यूरोपियन संघ ईयू के साथ नए रणनीतिक संबंधों को लेकर लगातार कार्य कर रहा है।

उन्होंने कहा विदेश नीति के साथ साथ आज भारत की भूमिका जलवायु कूटनीति में भी महत्वपूर्ण हो गयी है ,जलवायु परिवर्तन के खिलाफ जब संकट दिखने लगा है तब विश्व में जलवायु कूटनीति के लिए विश्व मे भारत की भूमिका और भी महत्वपूर्ण हो जाती है उन्होंने कहा 2015 में जलवायु कूटनीति में पेरिस समझौता भारत के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण था जिस समय भारत ने एक सक्रिय भागीदार की भूमिका अदा की आज भारत के प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में पहले से अधिक ठोस कदम उठा रहा है भारत आज मोदी के नेतृत्व में दुनिया के 121 अंतराष्ट्रीय देशों के गठबंधन में शामिल हो गया है । कौशिक ने कहा कि आज हर क्षेत्र में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश मजबूती से विश्व पटल में अपनी अलग पहचान बनाते हुए अपने आप को मजबूती से विश्व के तमाम देशों के आगे आत्मनिर्भर बनाते हुए सक्षमता से अपने आप को स्थापित कर रहा है आने वाले समय मे भारत मजबूती से विश्व मे अपनी महत्वपूर्ण भूमिका को और मजबूत करेगा।

The Digital Uttarakhand

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.